आंखों की त्वचा को ऐसे बनाए रखें जवां

आंखों की त्वचा को ऐसे बनाए रखें जवां

तीस साल के बाद हमारा चेहरा खासकर आंखों के पास की स्किन आहिस्ता आहिस्ता ढलने लगती है।..

त्वचा

हालांकि शुरुआत में अधिकतर लोग इसका अंदाजा नहीं लगा पाते। मगर चालीस की उम्र पार करते ही रेखाएं या फिर झुर्रियां थोड़ी और साफ नज़र आने लगती है।

 उसके बाद पचास की उम्र के आसपास चेहरा और आंखें झुर्रियों से भरने लगते हैं। झुर्रियों का एक कारण ज्यादा वक्त धूप में निकलना भी है। मगर घबराइए मत, क्योंकि आप कुछ सरल उपायों से इस समस्या को दूर कर सकते हैं

क्रोज़ फीट

आंखों के इर्द-गिर्द होने वाली झुर्रियों को क्रोज़ फीट कहा जाता है, जिससे आंखों की नाजुक त्वचा के पास महीन लकीरें नज़र आने लगती हैं।

 दरअसल, आंखों के आसपास मांसपेशियां बेहद नाजुक होती हैं, जो आंखों को रगड़नेऔर हंसते समय आंखें सिकोड़ने से जल्दी डैमेज हो जाती है। 

इसके चलते आंखों के पास की स्किन पर झुर्रियां यानि क्रोज़ फीट नज़र आने लगती हैं। हालांकि बढ़ती उम्र भी क्रोज़ फीट का एक मुख्य कारण है,!

 जिसके चलते हमारी आंखों पर एजिंग साइन नज़र आने लगते हैं।

सूरज की किरणों से करें परहेज

सन रेज़ आपके चेहरे के साथ-साथ आपकी आंखों के लिए भी नुकसानदायक साबित होती है। अगर आपकी उम्र पैंतीस साल है!

, तो ध्यान रखें की तेज़ धूप में बाहर निकलते वक्त चेहरे पर सनस्क्रीन के अलावा आंखों पर चश्मा होना भी बेहद जरूरी है। उम्र का हमारे चेहरे पर खास असर नज़र आता है।

 मगर सन ग्लॉसिस और सनस्क्रीन की मदद से आप चिलचिलाती धूप से अपनी आंखों को बचा सकती हैं। दरअसल, यूवी किरणों के कारण आंखों के इर्द-गिर्द झुर्रियां नज़र आने लगती है, जो आंखों की त्वचा को नुकसान पहुंचाती हैं।

डे क्रीम और नाईट क्रीम करें अप्लाई

तीस की उम्र पार करने के बाद आप अपनी स्किन में बदलाव महसूस करने लगते हैं। 

खासतौर से आपको अपनी आंखों की स्किन लूज़ लगने लगती है। ऐसे में आंखों की त्वचा को दुरुस्त रखने के लिए एक रूटीन फॉलो करें। 

इसके तहत रात को सोने से पहले चेहरे को नार्मल पानी से धोकर साफ कर लें और फिर आंखों के नीचे और आसपास क्रीम से छोटे-छोटे डॉट्स लगा लें। 

इसके बाद अब सर्कुलर मोशन में हल्के हाथों से उसे आंखों पर अप्लाई करें। ध्यान रहे कि क्रीम की मात्रा कम होनी चाहिए, 

क्योंकि आइक्रीम के अंदर बेहद चिकनाहट होती है। इसके अलावा आप दिन में नहाने केबाद चेहरे के साथ-साथ आंखों के नीचे भी डे क्रीम जरूर अप्लाई करें, ताकि आंखों की त्वचा हाइड्रेट हो सके।

पहुंचाने लगते हैं। यहां तक की इसका प्रभाव हमारे चेहरे पर भी नजर आने लगता है।

 जी हां, खाने में ज्यादा नमक और मिर्च का सेवन शरीर के बाकी अंगों के अलावा स्किन के लिए भी नुकसानदायक साबित हो सकता है।

 ज्यादा मसालों के सेवन के स्थान पर हरी सब्जियों को डाइट में शामिल करें, ताकि शरीर को एंटीआक्सीडेंट प्राप्त हो पाएं और स्किन फिट बन सके। इसके अलावा खूब पानी पीएं और ध्यान रखें को पानी पीते समय गिलास में नारंगी, संतरा, नींबू या फिर खीरे के टुकड़े डाल दें।

स्क्रब करना न भूलें

चेहरे का ख्याल रखने के अलावा आंखों के .आसपास की त्वचा का ख्याल रखना भी बेहद ज़रूरी है। 

इसके लिए आंखों को काले घेरों और झुर्रियों से मुक्त करने के लिए पैंतीस साल के बाद आंखों के आसपास स्क्रब करना शुरू कर दें। 

दरअसल, आंख के नज़दीक त्वचा पतली होती है, जो उम्र बढ़ने के साथ ढलकने लगती है। ऐसे में इसके साथ की गई लापरवाही एंटी एजिंग साईन का कारण साबित हो सकते हैं। 

ऐसे में सप्ताह में एक बार आंखों के चारों ओर स्क्रब जरूर करें।

पानी ज्यादा मात्रा में पीएं

आंखों की त्वचा को चमकदार और स्वस्थ रखने में पानी का विशेष योगदान है। 

अगर आप आँखों को झुर्रियां मुक्त करना चाहते हैं, तो अधिक से अधिक पानी का सेवन करें। दरअसल, कई बार झुर्रियों की वजह डिहाइड्रेशन भी होता है,

 इसलिए खुद को हाइड्रेट रखें। पानी से हमारे शरीर में जमा सभी टाक्सिंस बाहर आ जाते है और त्वचा में नमी बरकरार रहती है। साथ ही इससे काले घेरों की समस्या से भी मुक्ति मिलती है।

मसालों पर लगाएं लगाम

टीनएजर्स को स्वाइसी फूड खूब भाता है। मगर जब आप तीस से पैंतीस के करीब पहुंचते हैं, तो तीखे मिर्च मसाले शरीर को धीरे-धीरे नुकसानस्क्रब करना न भूलें

चेहरे का ख्याल रखने के अलावा आंखों के .आसपास की त्वचा का ख्याल रखना भी बेहद ज़रूरी है। 

इसके लिए आंखों को काले घेरों और झुर्रियों से मुक्त करने के लिए पैंतीस साल के बाद आंखों के आसपास स्क्रब करना शुरू कर दें। दरअसल, आंख के नज़दीक त्वचा पतली होती है!

 जो उम्र बढ़ने के साथ ढलकने लगती है। ऐसे में इसके साथ की गई लापरवाही एंटी एजिंग साईन का कारण साबित हो सकते हैं। ऐसे में सप्ताह में एक बार आंखों के चारों ओर स्क्रब जरूर करें।

पानी ज्यादा मात्रा में पीएं

आंखों की त्वचा को चमकदार और स्वस्थ रखने में पानी का विशेष योगदान है। 

अगर आप आँखों को झुर्रियां मुक्त करना चाहते हैं, तो अधिक से अधिक पानी का सेवन करें। दरअसल, कई बार झुर्रियों की वजह डिहाइड्रेशन भी होता है!

, इसलिए खुद को हाइड्रेट रखें। पानी से हमारे शरीर में जमा सभी टाक्सिंस बाहर आ जाते है और त्वचा में नमी बरकरार रहती है। साथ ही इससे काले घेरों की समस्या से भी मुक्ति मिलती है।

मसालों पर लगाएं लगाम

टीनएजर्स को स्वाइसी फूड खूब भाता है। मगर जब आप तीस से पैंतीस के करीब पहुंचते हैं!

, तो तीखे मिर्च मसाले शरीर को धीरे-धीरे नुकसानपहुंचाने लगते हैं। यहां तक की इसका प्रभाव हमारे चेहरे पर भी नजर आने लगता है। 

जी हां, खाने में ज्यादा नमक और मिर्च का सेवन शरीर के बाकी अंगों के अलावा स्किन के लिए भी नुकसानदायक साबित हो सकता है।

 ज्यादा मसालों के सेवन के स्थान पर हरी सब्जियों को डाइट में शामिल करें, ताकि शरीर को एंटीआक्सीडेंट प्राप्त हो पाएं और स्किन फिट बन सके।

 इसके अलावा खूब पानी पीएं और ध्यान रखें को पानी पीते समय गिलास में नारंगी, संतरा, नींबू या फिर खीरे के टुकड़े डाल दें।

आंखों के नीचे दिखने वाली झुर्रियों से राहत पाने के लिए अपनाएं कुछ घरेलू उपाय

मौजूदा वक्त में लोग एवोकेडो का खूब सेवन करते हैं। खाने के साथ-साथ अगर आप इसे चेहरे पर लगाएंगे, तो इससे कई परेशानियों से राहत मिल सकती है। 

इसके लिए आप एक पका हुआ एवोकेडो लें और उसका पल्प एक कटोरी में निकाल लें। अब उस पल्प को अच्छी तरह से मैश कर लें। 

आप चाहें तो इसमें शहद भी मिला सकती हैं। अब इस मिश्रण को आप आंखों के नीचे लगाएं और धीरे धीरे पूरे चेहरे पर लगा लें। तकरीबन पंद्रह मिनट के बाद अब सादे पानी से चेहरे को धो लें।

नारियल का तेल

रुखी त्वचा को मुलायम बनाने में नारियल का तेल सहायता प्रदान करता है। चाहे इसे नहाने से पहले लगाएं या बाद में दोनों ही तरह से ये स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है। 

नहाने से ठीक 20 मिनट पहले नारियल के तेल को अपने चेहरे समेत शरीर पर लगाएं और फिर स्नान करें। इससे रूखी त्वचा के साथ चेहरे पर होने वाली कील मुहासों की समस्या से भी छुटकारा मिल जाता है। दूसरी ओर शरीर पर साबुन के ज्यादा इस्तेमाल से बचना चाहिए क्योंकि साबुन से शरीर को नमी कम होती है!

 और रूखापन बढ़ने लगता है। नहाने के बाद नारियल तेल की मसाज न केवल त्वचा के ग्लो को बढ़ाती है!

 बल्कि एंटी-एजिंग के रूप में भी काम करता है। इसमें मौजूद एंटीआक्सीडेंट्स त्वचा की कोशिकाओं को नष्ट होने से बचाते हैं!

और फैटी एसिड त्वचा पर झुर्रियों को भी दूर रखता है और त्वचा की कसावट बरकरार रहती है।

दही और नींबू का घोल

अगर आपकी त्वचा रखी हैं और आप व्यस्त दिनचयों के कारण कोई उपाय नहीं कर पा रही हैं!

तो ऐसे में दही आपके चेहरे की चमक बढ़ाने में काफी हद तक कारगर साबित हो सकता है। ऐसे में एक कटोरी दही लें और उसके अंदर नींबू का रस मिला लें। 

अब इसे चेहरे पर अप्लाई करें और पंद्रह से बीस मिनट के लिए छोड़ दें। उसके बाद नार्मल पानी से चेहरे को धो लें।

 चेहरे को धोने के बाद कोई भी माईश्चराइजर ऐसा सप्ताह में एक बार करने से चेहरे की डेड स्किन निकल जाएगी और झुर्रियों की समस्या से भी राहत मिलेगी।

आंखों का व्यायाम

फेशियल एक्सरसाइज चेहरे को एक नया ग्लो और नई स्फूर्ति प्रदान करता है।

 अगर आप भी रिंकल्स से परेशान हैं, तो इन्डेक्स फिंगर और अंगूठे की मदद से आइब्रो के आसपास की स्किन को हल्के हाथों से मसाज करें, जो झुर्रियों के साथ-साथ तनाव से भी राहत पहुंचाने में मददगार साबित होता है। इसके अलावा आंखों के बाहरी कोनों पर

इनडेक्स फिंगर रखें और त्वचा को ऊपर-नीचे

करें। इससे मासंपेशियों को मजबूती मिलेगी

और रक्तप्रवाह भी बढ़ेगा।

चेहरे पर खिचाव के लिए आप गालों को अंदर की ओर सिकोड़ लें और फिर मछली की तरह मुंह को बना लें। 

ऐसा करने के बाद हल्का-हल्का मुस्कुराने का प्रयास करें। अब इसी अवस्था में जब तक में संभव हो बैठे रहें। इस व्यायाम को नियमित तौर पर रोजाना करने से झुर्रियों की समस्या खुद-ब-खुद गायब हो जाएगी। 

आंखों को तरोताजा रखने के लिए सुबह उठकर पार्क जाएं और हरी घास और पेड़-पौधे देखें। 

इससे भी आंखों को शांति प्राप्त होती है। हमारी दिनचर्या का प्रतिबिंब हमारे चेहरे से झलकता है। ऐसे में अगर शरीर को स्वस्थ रखना चाहती हैं!

, तो अपने डेली रूटीन में अच्छी आदतों को शामिल करें। नियमित व्यायाम के साथ-साथ समय से ब्रेकफास्ट करें और सभी मोल्स को समय से लें। इसके अलावा मील्स में सब्जियां, फल और दूध के प्रोडक्ट्स भी शामिल करें तला भुना खाने से बचें, क्योंकि इससे चेहरे पर मुहांसे होने का खतरा रहता है। व्यायाम करने से चेहरे में रक्त प्रवाह बढ़ता है!

 और कोलोजन व इलास्टिन का निर्माण होता है, जो चेहरे में कसाव लाने में मदद करते हैं। इसके अलावा सही डाइट एंटी-एजिंग साईंस को कम करने में भी मददगार साबित होती है।

Dr. Padmini Issac

में एक डॉक्टर हूँ,मैं इस ब्लॉग पर स्वस्थ से जुड़े सबलो के जबाब ब्लॉग के रूप में देती रहती हूँ,आशा करती हूँ ये जानकारी आपके स्वस्थ रहने में आपको अनेक मदत करेगी|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *