क्या आप जानती हैं हॉट स्टोन मसाज के ये बेहतरीन लाभ!

क्या आप जानती हैं हॉट स्टोन मसाज के ये बेहतरीन लाभ!

खुद को रिलैक्स रखने के लिए हॉट स्टोन मसाज इन दिनों लोगों की पहली पसंद बनी हुई है । 

आज के समय में हॉट स्टोन थेरेपी एक नया ट्रेंड बन गया है लेकिन यह थेरेपी काफी पुरानी और पारंपरिक है। 

तो क्यों न आप भी इस थेरेपी का लाभ उठाएं।

सदियों से आयुर्वेद में इस थेरेपी का खूब उपयोग किया जाता है।

 हॉट स्टोन धेरैपी शरीर के चक्रों को शांत कर मांपसेशियों की जकड़न को खत्म करने में मदद करती है और तनाव से मुक्त रखती है।

 इस स्टोन में अपार ऊर्जा होती है, जो शरीर में गहराई से प्रवेश करती है और शरीर के चक्र को संतुलित रखने में मदद करती है,

 जिसके कारण आपको राहत और असीम उर्जा का अनुभव होता है।

आइये जानते हैं हॉट स्टोन मसाज करने का तरीका और इससे होने वाले लाभ

हॉट स्टोन मसाज का महत्व

आमतौर पर डॉक्टर शरीर के चक्र को संतुलित रखने और दर्द से निजात पाने के कई तरीके बताते हैं। लेकिन आप घर पर ही हॉट स्टोन थेरेपी से इस समस्या से निजात पा सकते हैं।

 हॉट स्टोन मसाज में उन्हीं स्टोन का इस्तेमाल किया जाता है, जो क्षारीय प्रकृति के नहीं होते हैं। 

किसी भी प्रकार के पत्थर जो आपकी हथेली में आजाए और उस पर बैक्टीरिया या कीटाणु न जमा हो, 

उसे अच्छी तरह से साफ करके मसाज करने के लिए उसका इस्तेमाल किया जा सकता है।

स्टोन को गर्म करें

मसाज करने से पहले स्टोन को कुकर या ओवन में कम तापमान पर गर्म करें। 

आप स्टोन को कपड़े में लपेटकर भी उसे गर्म कर सकते हैं। तापमान के अनुसार स्टोन को गर्म करने में एक घंटे या इससे अधिक समय लग सकता है।

 स्टोन को सिर्फ उतना ही गर्म करें, जिससे कीउसे पकड़ते समय आपका हाथ न जले।

ऐसे करें मसाज

हॉट स्टोन से मसाज करने के लिए आपको गहरी सांस लेकर आराम से लेट जाना चाहिए। 

मसाज कराने के लिए आप पार्टनर की मदद ले सकते हैं। हॉट स्टोन थेरेपी तभी काम करती है

 जब मसाज स्टोन को आपकी पीठ या आपके चेहरे पर रखा जाता है।

मांसपेशियों में तनाव और दर्द को करे दूर

मांसपेशियों के तनाव और दर्द को कम करने के लिए लंबे समय से हीट का उपयोग किया जाता रहा है। 

यह प्रभावित क्षेत्र में रक्त के प्रवाह को बढ़ाने में मदद करता है।

 होट मांसपेशियों की ऐंठन को कम करके फ्लैक्सिबिलिटी को बढ़ाने में मददगार है। 

वहीं, कोल्ड थेरेपी सूजन को दूर करने में मदद करती है। ऐसे में आप अपने लक्षणों के आधार पर मालिश के दौरान गर्म और ठंडे पत्थरों का वैकल्पिक उपयोग सहायक हो सकता है।

स्ट्रेस और एंग्जाइटी को करे कम

हॉट स्टोन मसाज तनाव और चिंता को कम करने में बेहद ही कारगर तरीके से काम करती है।

 अध्ययनों ने यह भी साबित किया है कि यह रक्त परिसंचरण में सुधार करता है। 

सर्जरी व ऑपरेशन के बाद होने वाले दर्द और तनाव को दूर करने के लिए भी हॉट स्टोन मसाज की मदद ली जा सकती है।

 हालांकि यह ऑप्शन चुनने से पहले एक बार डॉक्टर से परामर्श अवश्य लें।

ऑटोइम्यून बीमारी के लक्षणों से दे राहत

यह फाइब्रोमायल्गिया या पुराने दर्द के इलाज मेंप्रभावी तरीके से काम करता है।

 अध्ययनों के अनुसार, जिन रोगियों ने हॉट स्टोन मसाज थेरेपी का इस्तेमाल किया उन्हें अपेक्षाकृत कम दर्द का अनुभव हुआ।

 इसके अलावा, इसने दर्द के ट्रिगर पॉइंट से बेहतर तरीके से निपटने में मदद की। ऐसे में ऑटोइम्यून बीमारी से लड़ने में मसाज थेरेपी एक अच्छा विकल्प है।

मिलेगी बेहतर नींद

आज के समय में व्यक्ति इतने तनाव व चिंताओं से घिरा हुआ है 

कि उसका विपरीत प्रभाव उसकी नींद पर देखने को मिलता है। अधिकतर महिलाओं को रात में ठीक से नींद ही नहीं आती या फिर अगर उन्हें नींद आती भी है 

तो वह रात में बार-बार उठ जाती हैं और फिर उन्हें दोबारा सोने में परेशानी होती है। 

अगर आप को भी ऐसी कोई समस्या है तो नींद की गोलियां लेने के स्थान पर आप हॉट स्टोन मसाज थेरेपी का विकल्प चुनें। विभिन्न शोधों ने साबित किया है

 कि यह मालिश गोलियों से कहीं बेहतर विकल्प है और इसके बेहतर प्रभाव हैं। यह शरीर को आराम प्रदान करता है, जिससे अच्छी और बेहतर नींद आती है।

ऑयल के साथ हॉट स्टोन मसाज

हॉट स्टोन से बेहतर मसाज के लिए इसेंशियल ऑयल का भी उपयोग किया जा सकता है। 

आप स्टोन को लैवेंडर, नारियल या जोजोबा ऑयल में डुबोएं और फिर मसाज करें। इससे मांसपेशियों एवं जोड़ों में जकड़न एवं तनाव दूर होता है।

 इसेंशियल ऑयल का उपयोग करने से तनाव दूर होता है और अच्छी नींद आती है। हॉट स्टोन मसाज काफी लोकप्रिय हो रहा है। 

भारी संख्या में लोग मांसपेशियों में तनाव को दूर करने के लिए इस मसाज का सहारा लेते हैं।

हॉट स्टोन से कब तक मसाज करना चाहिए

अगर आप अपने शरीर पर हॉट स्टोन को 20 से 30 मिनट तक रखते हैं 

तो यह बेहतर तरीके से काम करता है। आप अपनी आवश्यकता के अनुसार इस प्रक्रिया को दोहरा भी सकते हैं। 

मसाज के दौरान हॉट स्टोन धीरे-धीरे ऊर्जा छोड़ता है और जहां दर्द का अनुभव होता है उन हिस्सों के तनाव को कम करके आराम पहुंचाने में मदद करता है।

ऐसे करें मसाज

हॉट स्टोन से मसाज करने के लिए आपको गहरी सांस लेकर आराम से लेट जाना चाहिए।

 मसाज कराने के लिए आप पार्टनर की मदद ले सकते हैं। हॉट स्टोन थेरेपी तभी काम करती है

 जब मसाज स्टोन को आपकी पीठ या आपके चेहरे पर रखा जाता है। इससे आपको काफी आराम मिलता है। मसाज से पहले आप पेट के बल लेट जाएं 

और स्टोन को रीढ़ की रेखा पर लंबवत रखें। इसके अलावा हॉट स्टोन को कंधे पर रखने से भी काफी आराम मिलता है।

Dr. Padmini Issac

में एक डॉक्टर हूँ,मैं इस ब्लॉग पर स्वस्थ से जुड़े सबलो के जबाब ब्लॉग के रूप में देती रहती हूँ,आशा करती हूँ ये जानकारी आपके स्वस्थ रहने में आपको अनेक मदत करेगी|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *