ऐसे करें ब्लीच का सही इस्तेमाल

ऐसे करें ब्लीच का सही इस्तेमाल

चेहरे के अनचाहे बालों से निजात पाने के लिए ब्लीच एक अच्छा तरीका होता है। ब्लीचिगं से चेहरे के अनचाहे बालों से जहां छुटकारा मिलता है वहीं चेहरे की खूबसूरती भी निखरती है। खासकर तब जब इसो सही तरीके से इस्तेमाल किया जाता है ।

ज हर महिला चेहरे के अनचाहे आ बालों से छुटकारा पाने के लिए ब्लीच का इस्तेमाल करती हैं, पर कई बार जरा सी अनदेखी चेहरे की खूबसूरती को बढ़ाने की बजाय बदसूरत बना देती है, क्योंकि अधिकतर महिलाओं को ब्लीच का सही इस्तेमाल करना नहीं आता है। इसलिए जरूरी है। कि ब्लीच करने से पहले कुछ बातों का खास ध्यान रखें।

स्टेप नं. 1

ऐसे करें ब्लीच का सही इस्तेमाल
ऐसे करें ब्लीच का सही इस्तेमाल

पहले टेस्ट करें

हर किसी की त्वचा व बालों का रंग अलग होता है, इसलिए ब्लीच करने से पहले इसे टेस्ट जरूर कर लें। टेस्टिंग के लिए पेस्ट को कोहनी या हथेली के उल्टे तरफ लगाएं।

स्टेप नं. 2 कैसे बनाएं पेस्ट

पेस्ट बनाते समय ब्लीच में पाउडर की मात्रा ज्यादा ना रखें, क्योंकि इससे जलन की समस्या

पैदा होती है। इस बात का ध्यान देखें कि ब्लीच क्रीम में चुटकी भर पाउडर एक्टीवेटर का प्रयोग करें। पाउडर औरकीम ब्लीच को अच्छे से मिलाएं।

स्टेप नं. 3

कैसे लगाएं ब्लीच

ब्लीच करने से पहले चेहरे को अच्छी तरह साफ कर लें। फिर पेस्ट को चेहरे पर ऊपर से नीचे की तरफ लगाएं। इस बात का खास ध्यान रखें। कि ब्लीच आंख और आईब्रो के आसपास ना लगाएं। इस पेस्ट को चेहरे पर पैकेट में दिये गए समयानुसार 20 से 25 मिनट तक लगाएं। जब क्रीम अच्छी तरह सूख जाए तो गीले कॉटन से साफ कर लें, पोंछने के बाद कोल्ड क्रीम जरूर

लगाएं।

स्टेप नं. 4 ब्लीच के फायदे

ऐसे करें ब्लीच का सही इस्तेमाल

ब्लीच के फायदे की अगर बात करें तो ब्लीच करने से चेहरे पर

जो बाल होते हैं वह त्वचा के रंग से मिल कर दिखाई नहीं पड़ते और चेहरे पर निखार आता है। साथ ही 

ब्लीचिंग का असर चेहरे पर 15 से 20 दिनों तक रहता है। ब्लीच एक दर्दरहित प्रक्रिया है; जिससे बिना किसी 

झंझट व दर्द के चेहरे का आकर्षण बढ़ता है। सांवले रंग की महिलाओं के लिए ब्लीच सबसे अच्छा तरीका है, जिससे उनकी त्वचा में एक अलग ही चमक आती है।

त्वचा के अनुसार ब्लीच

का प्रयोग

संवेदनशील त्वचा पर हमेशा मिल्क ब्लीच यूज करना चाहिए। यह दूध के पाउडर से बनी होती है। इसलिए 

यह त्वचा को कोई हानि नहीं पहुंचाती है। इसे अमोनिया के साथ मिक्स करके संवेदनशील त्वचा पर यूज करें।

सोप क्लेक्स ब्लीच

तैलीय त्वचा के साथ अक्सर यह पेरशानी होती है कि इस त्वचा पर एक्ने, मुंहासे, मोटे-मोटे दाने

ज्यादातर निकल आते हैं। इसलिए तैलीय त्वचा पर ‘सोप फ्लेक्स ब्लीच’ का प्रयोग करना चाहिए, क्योंकि यह एंटीसेप्टिक होती है और इसे साबुन की तरह त्वचा पर रगड़ कर प्रयोग करना चाहिए।

एलोवेरा ब्लीच

इस ब्लीच का प्रयोग मैच्योर स्किन वालों को करना चाहिए, क्योंकि जैसे-जैसे उम्र बढ़ती है स्किन ढीली 

होती जाती है, इसलिए स्किन पर ज्यादा अमोनिया वाली ब्लीच प्रयोग ना करें, वरना स्किन ड्राई हो जाती है और रिंकल्स जल्द ही दिखाई पड़ने लगते हैं। एलोवेरा ब्लीच एजिंग ब्लीच होती है, जो त्वचा को नमी प्रदान करती है।

ऑयल बेस ब्लीच

इस ब्लीच का प्रयोग रूखी त्वचा पर करना चाहिए। क्योंकि यह ब्लीच अमोनिया क्रिस्टल फाम में आती है जो त्वचा पर नमी बरकरार रखती है। इससे त्वचा रुखी नहीं होती है। डेट सी मिनरल एक ऐसा उत्पाद है जिसके अंदर ऑयल बेस ब्लीच का प्रयोग होता है। जो सिर्फ रूखी त्वचा के लिए ही बना होता है।

घर पर ब्लीच करने जा रहे हैं। तो रखें इन बातों का ध्यान

क्या आप भी टैनिंग हटाने के लिए और अपने चेहरे पर ग्लो लाने के लिए घर पर ब्लीच करती हैं ? क्या आपको 

कभी इस बात का ख्याल भी मन में आता है कि कहीं घर पर ब्लीच करने का कोई साइड इफेक्ट हमारी त्वचा 

पर न हो जाए। आइए हम आपको बताते हैं घर पर ब्लीच करने से पहले किन बातों का ख्याल रखें जिससे आपको त्वचा सम्बन्धी किसी समस्या का सामना न करना पड़े।

अच्छे ब्रांड की ब्लीच का इस्तेमाल

ध्यान रहे अगर आप पहली बार घर पर ब्लीच का इस्तेमाल करने जा रही हैं तो अपनी त्वचा के अनुसार ब्लीच क्रीम का चयन करें जहां तक हो

सके अच्छे ब्रांड को ब्लीच का प्रयोग करें। आपकी त्वचा सेंसटिव है तो चेहरे पर ब्लीच लगाने से पहले कान के पीछे ब्लीच लगा कर देख लें की इससे किसी तरह का कोई इरिटेशन तो नहीं हो रहा है।

ब्लीच से पहले थ्रेडिंग न करवाएं

अगर आपको जलन या रैशेज हों तो ब्लीच न करें। ब्लीच करने से पहले कभी भी थ्रेडिंग न कराएँ। क्योंकि 

थ्रेडिंग से चेहरे में कभी कट्स लग जाते हैं जिससे ब्लीच करने पर जलन होने लगती है। ब्लीच हटाने के लिए कभी भी हाथों का इस्तेमाल न करें बल्कि ब्रश से ब्लीच साफ़ करें।

ठीक से फेसवॉश करें

ब्लीच से पहले फेसवॉश अच्छी तरह करना चाहिए। इसके बाद फेस पर प्री-ब्लीच क्रीम से मसाज करें। अब 

एक कटोरी में 2 से 3 चम्मच ब्लीचिंग क्रीम लें और उसमें 1 या 2 चुटकी एक्टिवेटर मिलाएं। ध्यान रखें कि एक्टिवेटर की मात्रा संतुलित हो, क्योंकि एक्टिवेटर की मात्रा ज्यादा होने पर आपकी त्वचा को नुकसान भी पहुंच सकता है।

ब्लीच आईब्रो में ना लगे

इस बात का खास ध्यान रखें कि ब्लीच आईब्रो और कलमों पर न लगे, क्योंकि ऐसा करने से आईब्रो का कलर भी बदल जाएगा जो देखने में खराब लगेगा।

पोस्ट ब्लीच क्रीम का इस्तेमाल

जहां तक संभव हो ब्लीच करने के बाद पोस्ट ब्लीच क्रीम का प्रयोग करें इससे स्किन पर किसी तरह का साइड इफेक्ट नहीं होगा। साथ ही ब्लीच का अच्छा इफेक्ट भी आएगा हो सके तो ब्लीच के बाद फेशिअल जरूर करें।

फेम की टरमरिक एंड मिल्क ब्लीच से पाएं नरम और निखरी त्वचा

फेम को न्यू टरमरिक एंड मिल्क ब्लीच डेट सेल्स को हटाती है, साथ ही टैनिंग से भी बचाती है। यह आपकी 

त्वचा में चमक और निखार लाती है। हल्दी और दूध से बना यह ब्लीच घरेलू उबटन के समान ही फायदेमंद है। हर्बल और नैचुरल ब्लीच होने के कारण यह हर प्रकार 

की त्वचा पर अप्लाई किया जा सकता है। टरमरिक एंड मिल्क ब्लीच फेम के दूसरे ब्लीच की तरह ही काम 

करता है। फर्क है तो बस इतना कि इसमें हल्दी को भी मिक्स किया गया है। चंद मिनटों में ही यह आपके स्किन टोन से मैच कर जाती है और आप सॉफ्ट ग्लोइंग स्किन पा सकती हैं।

• टरमरिक एंड मिल्क ब्लीच सेंसेटिव स्किन वालों के लिए भी है।

• इसके इस्तेमाल से आपकी त्वचा सॉफ्ट और ग्लोइंग नजर आती है।

• पहली बार इस्तेमाल करनेवालों के लिए भी आसान है। इसमें इस्तेमाल के तरीके भी बताए गए हैं और मेजरमेंट के लिए स्पून भी है।

• इसके इस्तेमाल के बाद 45 दिनों तक आपको दोबारा ब्लीच करने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

कैसे लगाएं

• क्रीम को स्पैचुला से सामान्य तरह से लगाएं। • लगाने के 3 से 6 मिनट बाद

इसे कॉटन या स्पैचुला से हटाएं।

• साफ पानी से इसे धोएं और सुखा लें।

Dr. Padmini Issac

में एक डॉक्टर हूँ,मैं इस ब्लॉग पर स्वस्थ से जुड़े सबलो के जबाब ब्लॉग के रूप में देती रहती हूँ,आशा करती हूँ ये जानकारी आपके स्वस्थ रहने में आपको अनेक मदत करेगी|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *