अब बाल बनेंगे अधिक घने

अब बाल बनेंगे अधिक घने

अगर बाल ज्यादा झड़ रहे हैं या टूट रहे हैं, या डैंड्रफ हो रही है तो आपके लिए यह लेख कारगर साबित होगा। इसमें दिए गए टिप्स आपके बालों को देंगे एक नई रौनक |

एक अध्ययन के अनुसार हर दिन लगभग सौ बाल टूटना सामान्य बात है लेकिन अगर बाल कंधी में ज्यादा 

आ रहे हैं तो वह चिंता की बात है। नीचे दिए गए कुछ टिप्स को आजमाकर आप काफी हद तक वालों को झड़ने से रोक सकते हैं।

1अगर आप नियमित रूप से एंटी- डैंड्रफ शैंपू का इस्तेमाल कर रही हैं तो अब इसे रोक दें एंटी-डैंड्रफ का 

लंबे दिनों तक इस्तेमाल वालों की जड़ों को कमजोर और स्कैल्प को चिकना बना देता है। जिस स्थान पर बाल दोबारा नहीं उगते इसलिए इसका इस्तेमाल महीने में सिर्फ एक बार ही करें।

अब बाल बनेंगे अधिक घने
अब बाल बनेंगे अधिक घने

2 बालों को अगर कलर करती हैं तो महीने में 1-2 बार कलरिंग न करें। एक बार कलर किए गए वालों में कम 

से कम 2 से 3 महीने का अंतराल जरूर रखें क्योंकि बालों में केमिकल आप जितना कम लगाएंगी, बाल उतना स्वाभाविक रूप से सांस ले सकेंगे। 3 अक्सर देखा गया है कि सलॉन में ज्यादातर स्विप एक ही समय 

पर कलरिंग और स्ट्रेटनिंग ट्रीटमेंट लेती हैं। ऐसा न करें कम से कम एक ट्रीटमेंट से दूसरे ट्रीटमेंट के बीच में चार सप्ताह का अंतराल दें और इस बीच अपनी डाइट में विटमिन एच ( अंडे का सफेद केले, स्पाउट्स और हरी सब्जिया)

को जरूर शामिल करें। ये सभी चीजें बालों को प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाती हैं।

4 सादातर पुरुष वालों को गीला कर जेल या क्रीम लगाते हैं। इन केमिकलयुक्त क्रीम व जेल का प्रयोग महीने में एक बार पानी के साथ मिलाकर करें।

 5 अक्सर ऑफिस की जल्दबाजी में वालों को वॉश करते ही कधी करने लग जाते हैं। वालों को पूरी तरह से सूख जाने पर ही कधी करें कॉम्बिंग वालों की टिप से शुरू करते हुए इसे ऊपर की ओर ले जाते हुए कधी करें।

6 नियमित रूप से तरह-तरह के घरेलू पैक आजमाने की गलती न करें। महीने में एक बार ही हर्बल ट्रीटमेंट 

आजमाएं। सिरके के साथ मेहंदी न मिलाएं। महीने में एक बार द्वीप ऑयलिंग करें। एक्सपर्ट के मुताबिक, 

अगर आप बालों के झड़ने से परेशान हैं तो भी ऑयलिंग से बचें ज्यादा तेल लगाने से भी बाल अधिक टूटते हैं।

अब बाल बनेंगे अधिक घने
अब बाल बनेंगे अधिक घने

कभी भी हेयर स्टाइलिंग जेल चा स्ट्रेटनिंग क्रीम का ज्यादा इस्तेमाल न करें। अगर इसको अप्लाई कर भी 

लिया अगले 10 दिन तक अपनी डाइट में अधिक प्रोटीन शामिल करें। वालों को हमेशा माइल्ड शैंपू से ही धोएं।

8 हेयर सनस्क्रीन का इस्तेमाल करना जरूरी नहीं है, लेकिन सप्ताह में 2-3 बार सूखे व बेजान वालों पर 

हेयर सीरम लगाया जा सकता है। इसे पुरुष और स्त्री दोनों ही लगाएं। ध्यान रखें कि बालों की जहाँ में सीरम न लगाएं। सिर्फ वालों के सिरों पर ही इसे अप्लाई करें।

9 अगर स्कैल्प में सोरायसिस और डैंड्रफ भी है तो इनमें तेल न लगाएं। ऑपलिंग करने से रूसी उपादा पनपती 

है इसलिए इसे न लगाएं। साथ ही वालों के लिए चौड़ी दांत वाली कॉम्ब का इस्तेमाल करें मतीन दांत वाली कंथी वालों को ज्यादा तोड़ती है।

यदि आपके बाल अधिक लंबे हैं तो इनकी चोटी बनाकर रखें। अगर पोनीटेल बांध रही हैं तो ज्यादा टाइटन लेकिन रात में सोते समय वालों को खोल लें या इन्हें हलका बांधे।

10

हैयरपिंस के ज्यादा इस्तेमाल से बचें। 11 स्त्री-पुरुष के लिए अलग अलग शैंपू कंडिशनर आते हैं उन्हीं का 

इस्तेमाल करें। अगर यादा रूसी है तो हफ़्ते में एक बार एंटी-डैंड्रफ शैंपू का इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके अलावा 2-3 महीने के अंतराल पर अपना शैंपू

12

पुरुष हर महीने हेयर कट लेते रहें, वहीं स्त्रियाँ भी 2-3 महीने

में एक बार हेयर कट कराएं या वालों को टिमिंग कराएं।

13 हेयर स्पा एक अच्छा ऑप्शन है। इससे बाल अधिक स्वस्थ व मजबूत बनते हैं। बालों में अगर 

स्ट्रेटनिंग थैरेपी या कैराटिन करवाया है तो पावरडोज स्था का आनंद लें। अगर ट्रीटमेंट आदि नहीं करवाया तो नॉर्मल हेयर स्पा लिया जा सकता है।

14 ज्यादातर पुरुष व स्त्रियां सलॉन न जाकर घर में ही तैपर ढाई का इस्तेमाल करना पसंद करते हैं। अगर हेयर 

डाई घर में लगा रहे हैं तो सबसे पहले इसके लेवल पर चेक करें कि यह अमोनिया फ्री हो, साथ ही यह ब्रँडेड हो पैक पर दिए गए दिशानिर्देश के अनुसार इसे बालों में अप्लाई करना न भूलें।

आजकल ज्यादातर ब्यूटी प्रोडक्ट्स में पैराबीन फ्री लिखा होता है। शैंपू भी पैरावीन फ्री हो ख़रीदें। इससे बालों को किसी

15

भी तरह का कोई नुकसान नहीं पहुंचता गर्भावस्था के बाद वालों का झड़ना एक आम समस्या है, इसलिए इस बारे में तनाव न लें एक अच्छे हेयर एक्सपर्ट की सलाह ली जा सकती है।

अब बाल बनेंगे अधिक घने

16

17 वालों को धुंधराला बनाने के लिए हेड रोलर्स को रात भर अपने बालों पर लगाकर न छोड़े आपके बालों 

में उनका अधिकतम समय 3-4 घंटे तक ही होता है, इससे ज्यादा होने पर बाल उसमें फंसकर टूटेंगे व कमजोर हो जाएंगे।

स्त्रियों में एंड्रोजेनेटिक एलोपेसिया को फीमेल पैटर्न बाल्डनेस और वहीं पुरुषों में मेल पैटर्न वाल्डनेस कहा 

जाता है। फीमेल पैटर्न बाल्डनेस वालों के गिरने की आनुवंशिक समस्या है, जिसमें पूरे सिर को त्वचा पर 

बाल क्रमिक रूप खत्म होते हैं। जबकि पुरुषों में गंजेपन का कारण अकसर आनुवांशिक होता है। ज्यादातर लोगों में यह देखा गया है कि भारी तनाव के 

कारण उनके बाल झड़ते हैं। इसके अलावा बालों को सुखाने के लिए हेयर ड्रायर की मदद ली जाती है, जो 

बालों के टूटने के लिए सबसे ज्यादा जिम्मेदार है। बालों को सीधा या घुंघराला बनाने के लिए किए जाने वाले ट्रीटमेंट, जंक फूड का सेवन और खाने में पोषण की कमी भी वालों की

18 समस्या के लिए जिम्मेदार बनती है। 19 नियमित व्यायाम से शरीर में रक्त संचार बढ़ता है और सिर तक 

ऑक्सीजन पर्याप्त मात्रा में पहुंचती है, जिससे वालों का झड़ना कम होता है। स्वस्थ रहना तो रोजाना 15-30 मिनट व्यायाम करें।

20 कहा जाता है कि दिन भर में आठ-दस ग्लास पानी जरूर पीना चाहिए। इससे न सिर्फ पाचन क्रिया बेस्तर होती है, बल्कि हमारे चेहरे पर भी ताज़गी रहती है। इससे बाल भी स्वस्थ रहते हैं।

21 वालों को टाइट

आपनिंग के इस्तेमाल से बाल डैमेज होते हैं। इसीलिए कोशिश करें कि इन्हें नैचरल रहने दें ज्यादा एक्सपेरिमेंट से बचें। •

प्रस्तुति

Dr. Padmini Issac

में एक डॉक्टर हूँ,मैं इस ब्लॉग पर स्वस्थ से जुड़े सबलो के जबाब ब्लॉग के रूप में देती रहती हूँ,आशा करती हूँ ये जानकारी आपके स्वस्थ रहने में आपको अनेक मदत करेगी|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *